भारत की 4 भूतिया जगह, जहाँ जाने के नाम से ही डर जाते है लोग

Cansulim Church

आप लोगो ने तो तमाम भूतिया स्थानों के बारे में सुना ही होगा। आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे भूतिया स्थानों के बारे में रौचक जानकारी देने जा रहे है जिसे सुनकर आप भी डर जाएंगे।

1) भानगढ़ किला

Fort of Bhangarh

राजस्थान में एक भानगढ़ किला है जिसे सूर्यास्त के बाद लोगो के लिए बंद कर दिया जाता हैमाना जाता है की राजकुमारी को रत्नावली को काला जादू करने वाले तांत्रिक सिंधु सेवड़ा ने जब पहली बार देखा तो वो उनकी सुन्दर्ता से सम्मोहित हो गए। उन्हें पाने की लालसा में तांत्रिक सिंधु सेवड़ा काला जादू करने लगा, लेकिन उसका जादू उल्टा पड़ गया।

Rajkumari Ratnavati

जिससे तांत्रिक की मौत हो गयी। और इसी तांत्रिक ने मरने से पहले भानगढ़ की बर्बादी का श्राप दे दिया। इस श्राप से मानो पूरा भानगढ़ तबाह हो गया। कहा जाता है की अब वहां आत्माओ
वास है, जो कोई भी रात में इस किले में गया वापस नहीं लौटा।

Kala Jadu By Tantrik on Rajkumari Ratnavati

2)थ्री किंग्स चर्च

Cansulim Church

गोवा में कैन्सुलीम नामक एक भूतिया चर्च है। माना जाता है वहां भूतो का वास है। बहुत समय पहले तीन पुर्तगाली राजाओ का किसी कारणवस चर्च में मौत हो गयी थी और उनकी आत्माएं आज भी चर्च में मौजूद है। कुछ लोगो ने इसे महसूस किया है। इसलिए स्थानीय लोगो का कहना है की ये चर्च एक भूतिया चर्च है।

3) कुलधारा गांव

Kuldhara Gaon

राजस्थान के जैसलमेर जिले में स्थित कुलधारा गांव भी एक भूतिया गांव है। जो की १७० सालो से विरान पड़ा है। कहा जाता है इस गांव में रहने पर इंसान गायब हो जाते है। यह गांव भी एक शापित गांव है।

Shrapit Kuldhara Gaon

दोस्तों कहा जाता है कि इस गांव में पहले कभी पालीवाल ब्राह्मण रहा करते थे। उस समय गांव के एक दीवान के बुरी नजर गांव की ही एक लड़की पर थी। उस लड़की को बचाने के लिए गांव वालो ने रातो -रात गांव छोड़ दिया और श्राप दे दिया की अब यहाँ कोई कभी भी नई बस पायेगा। तभी से कुलधारा विरान पड़ा है।

4) अग्रसेन की बावड़ी

Agrasen ki Baoli

दिल्ली में कनाट प्लेस से थोड़ा आगे अग्रसेन की बावड़ी है। जो कि एक प्राचीन बावड़ी है।
इसका निर्माण महाराजा अग्रसेन ने १४वी शताब्दी में करवाया था।

Black Water of Agrasen Baoli

इसका काला पानी लोगो को सम्मोहित कर आत्महत्या के लिए उकसाता था। जिससे कई लोगो को अपने जान से हाथ धोना पड़ा। इसलिए सूर्यास्त के बाद इस बावड़ी के पास कोई नही जाता। ये खौफ लोगो के जहन में आज भी है।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of